fbpx
Thursday, July 18, 2024
spot_img

Koraput Lok Sabha Seat: कोरापुट सीट से 9 बार चुनाव जीते पूर्व CM गिरिधर गमांग; 2019 में यहीं बची कांग्रेस की लाज, हारे थे BJD और BJP | Koraput Lok Sabha constituency Profile Biju janata dal BJP Congress india elections 2024


देश के खूबसूरत राज्यों में से एक ओडिशा में इन दिनों जोरदार राजनीतिक हलचल बनी हुई है. यहां पर एक साथ ही लोकसभा और विधानसभा चुनाव कराए जा रहे हैं. राज्य की कोरापुट लोकसभा सीट पर भी हलचल बनी हुई है. अनुसूचित जनजाति के लिए रिजर्व इस सीट पर कांग्रेस का कब्जा है. 2019 के संसदीय चुनाव में 21 लोकसभा सीटों वाले ओडिशा में कोरापुट ही वो सीट रही जहां पर कांग्रेस को जीत मिली थी. 1970 के बाद से कांग्रेस को सिर्फ 2 बार यहां पर हार मिली है.

कोरापुट लोकसभा सीट को 2 जिलों की विधानसभा सीटों को जोड़कर बनाया गया है. ये 2 जिले हैं रायगढ़ा और कोरापुट. इस संसदीय क्षेत्र के तहत 7 विधानसभा सीटें आती हैं जिसमें रायगढ़ा जिले की 3 तो कोरापुट जिले की 4 सीटों को शामिल किया गया है. एसटी के लिए आरक्षित कोरापुट संसदीय सीट के तहत आने वाली 7 विधानसभा सीटों में 2109 के चुनाव में 4 सीटों पर बीजेडी को जीत मिली थी तो 2 सीटों पर कांग्रेस को जीत मिली, जबकि एक सीट पर निर्दलीय प्रत्याशी के खाते में जीत गई थी.

2019 की कांटेदार जंग में कांग्रेस जीती

यह जिला राज्य के दक्षिणी भाग में पूर्वी घाट पर बसा हुआ है. इसके उत्तर-पूर्व में रायगढ़ा और आंध्र प्रदेश का पार्वतीपुरम-मण्यम जिला लगता है. जबकि उत्तर-पश्चिम में ओडिशा का नबरंगपुर जिला, छत्तीसगढ़ का बस्तर जिला लगता है तो ओडिशा का मलकानगिरी जिला आता है और दक्षिण में आंध्र प्रदेश का अल्लूरी सीतारमन राजू जिला है.

2019 के संसदीय चुनाव में कोरापुट लोकसभा सीट के चुनाव परिणाम को देखें तो यहां पर कांग्रेस को जीत मिली थी. कांग्रेस के प्रत्याशी सप्तागिरी शंकर उलाका ने बेहद कड़े मुकाबले में यह जीत हासिल की थी. सप्तागिरी शंकर उलाका को चुनाव में 371,129 वोट मिले तो बीजू जनता दल की कौशल्या हिकाका को 367,516 वोट मिले. भारतीय जनता पार्टी के जयराम पांगी ने भी कड़ी चुनौती पेश की और उन्होंने 208,398 वोट हासिल कर मुकाबले को त्रिकोणीय बना दिया.

बेहद कड़े संघर्ष के बाद सप्तागिरी शंकर उलाका ने 3,613 मतों के अंतर से चुनाव में जीत हासिल कर ली. तब के चुनाव में कोरापुट सीट पर कुल वोटर्स की संख्या 13,85,228 थी जिसमें पुरुष वोटर्स की संख्या 6,64,808 थी तो महिला वोटर्स की संख्या 7,20,221 थी. इसमें से 10,80,161 (80.6%) लोगों ने वोट डाले. चुनाव में NOTA के पक्ष में 36,561 वोट पड़े थे.

कोरापुट लोकसभा सीट का संसदीय इतिहास

कोरापुट लोकसभा सीट के संसदीय इतिहास की बात करें तो यह सीट कभी कांग्रेस के कब्जे में रहा करती थी. भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को यहां पर अब तक जीत नहीं मिली है तो बीजू जनता दल (बीजेडी) को सिर्फ 2 बार ही जीत मिल सकी. कांग्रेस 1957 के चुनाव से ही यहां पर लगातार जीतती आ रही थी, और उसकी जीत का सिलसिला साल 2004 के आम चुनाव तक जारी रहा.

यह सीट राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री गिरिधर गमांग की वजह से जानी जाती है. वह लंबे समय तक कांग्रेस में रहे फिर बीजेपी में चले आए. हालांकि उन्होंने पिछले साल बीजेपी से भी इस्तीफा दे दिया. वह फिर से कांग्रेस में लौट आए हैं. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गिरिधर गमांग ने 1972 से लेकर 1998 तक लगातार 8 चुनाव में जीत हासिल की थी. वह कुल 9 बार यहां से सांसद चुने गए. 1999 के चुनाव में गिरिधर गमांग की पत्नी भी सांसद चुनी गईं. इस दौरान गिरिधर गमांग राज्य में मुख्यमंत्री थे और वह चुनाव नहीं लड़े थे.

2024 में फिर त्रिकोणीय जंग के आसार

बीजू जनता दल ने गिरिधर गमांग की जीत का सिलसिला रोक दिया और 2009 में बीजेडी के जयराम पांगी ने 96,360 मतों के साथ चुनाव में जीत हासिल की. बीजेडी ने 2014 के चुनाव मे जिन्हा हिकाका को मैदान में उतारा और उन्होंने भी गिरिधर गमांग को कड़े मुकाबले में 19,328 मतों के अंतर से हरा दिया. 2019 के चुनाव में कांग्रेस ने फिर से वापसी की और सप्तागिरी शंकर उलाका ने जीत हासिल करते हुए पार्टी की पिछले 2 चुनाव में न सिर्फ हार का सिलसिला रोका बल्कि पार्टी के लिए एक सीट हासिल कर सूपड़ा साफ होने से भी बचा लिया.

अब 2024 की जंग के लिए फिर से मैदान तैयार हो गया है. कांग्रेस ने अपने सांसद सप्तागिरी शंकर उलाका को अनुसूचित जनजाति के लिए रिजर्व कोरापुट सीट से फिर से मैदान में उतारा है तो बीजेपी ने कालीराम मांझी को टिकट दिया है. बीजेडी की ओर से कौशल्या हिकाका अपनी चुनौती पेश करेंगी. ऐसे में यहां पर कड़ा मुकाबला होने के आसार हैं. पिछले चुनाव में 3 उम्मीदवारों को 2-2 लाख से अधिक वोट मिले थे और हार-जीत का अंतर बेहद कम रहा था. ऐसे में इस बार भी यही मुकाबला देखने को मिल सकता है.



RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

Most Popular