fbpx
Sunday, July 14, 2024
spot_img

पीएम मोदी के अरुणाचल दौरे के बाद से बौखलाया चीन, अब 30 जगहों के रखे चाइनीज नाम | china claimed on arunachal pradesh renamed locations pm modi visit foreign ministry of india


अरुणाचल प्रदेश को लेकर चीन ने एक और विवादित कदम उठाया है, चीन ने अरुणाचल प्रदेश की 30 जगहों को अपना बताते हुए उसका चाइनीज नामकरण कर दिया है. पहले ही चीन दावा करता रहा है कि अरुणाचल प्रदेश उसका हिस्सा है, जिस पर हाल ही में भारत के विदेश मंत्रालय ने जवाब देते हुए कहा था कि अरुणाचल प्रदेश हमारा हिस्सा था, है और हमेशा रहेगा.

भारत लगातार चीन को जवाब दे रहा है जिसके बाद भी चीन अपने कदम पीछे नहीं हटा रहा है. बल्कि लगातार अरुणाचल प्रदेश में अपने पैर पसार रहा है. चीन के सिविल अफेयर्स मिनिस्ट्री ने इन जगहों के नाम और जिओ लोकेशन भी जारी किए है.चीन ने अरुणाचल प्रदेश के जिन 30 जगहों पर बेतुका दावा किया है उसमें 11 आवासीय इलाके, 12 पहाड़, चार नदियां , एक झील, एक दर्रा (pass) और एक खाली जमीन है.

चीन ने अरुणाचाल प्रदेश में बदले नाम

अरुणाचाल प्रदेश पर चीन अपना दावा करता है और उसका जिजांग नाम बताता है. लेकिन अब साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट की रिपोर्ट के अनुसार,जानकारी सामने आई है कि चीनी नागरिक मामलों के मंत्रालय ने शनिवार को अरुणाचल प्रदेश में 30 और स्थानों का नाम बदल दिया, जिसे वह जांगनान या तिब्बत का हिस्सा कहते है. जिसमें 11 आवासीय इलाके, 12 पहाड़, चार नदियां , एक झील, एक दर्रा (pass) और एक खाली जमीन है. हालांकि जिन जगहों का नाम बदला गया है, उनके नाम अभी तक सामने नहीं आए हैं. इन इलाकों के नाम चीनी अक्षरों, तिब्बती लिपि और में लिखा गया है.

ये भी पढ़ें

पीएम के दौरे के बाद करा दावा

हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अरुणाचल प्रदेश का दौरा किया था और पीएम मोदी ने हाल ही में अरुणाचल प्रदेश में सेला टनल का उद्घाटन किया था जिस के बाद से ही चीन तिलमिलाया हुआ है. पीएम के दौरे के बाद चीन के रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता कर्नल झांग जियाओगांग ने 15 मार्च को एक बयान जारी कर कहा था कि वो भारतीय नेताओं के अरुणाचल दौरे का विरोध करता है. जिस के बाद चीन का ये बयान सामने आया. जिस में चीन ने कहा कि जिजांग (अरुणाचल प्रदेश चीनी नाम) चीन का हिस्सा है और चीन भारत के कथित अरुणाचल प्रदेश को न कभी स्वीकार करेगा और इसका सख्ती से विरोध करता है.

विदेश मंत्री ने दिया था जवाब

हालांकि भारतीय विदेश मंत्रालय ने चीन को सख्त जवाब देते हुए कहा कि भारत पहले भी चीन के ऐसे दावों को सिरे से खारिज कर चुका है. भारत के विदेश मंत्रालय ने गुरुवार को लगातार अरुणाचल प्रदेश को अपना हिस्सा बताने वाले बयानों पर टिप्पणी की है. विदेश मंत्रालय ने कहा कि बीजिंग जितनी बार चाहे अपने बेतुके दाव दोहराता रहे लेकिन इससे हमारा रुख नहीं बदलेगा कि अरुणाचल प्रदेश हमारा हिस्सा था, है और हमेशा रहेगा.



RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

Most Popular