fbpx
Wednesday, July 17, 2024
spot_img

Ramanathapuram Lok Sabha Seat: कांग्रेस के गढ़ में पांच पन्नीरसेल्वम मैदान में, वर्तमान में यहां इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग का सांसद | Ramanathapuram lok sabha election 2024 bjp aiadmk dmk congress stwar


Ramanathapuram Lok Sabha Seat: कांग्रेस के गढ़ में पांच पन्नीरसेल्वम मैदान में, वर्तमान में यहां इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग का सांसद

रामनाथपुरम पांच पन्नीरसेल्वम मैदान में
Image Credit source: tv9 भारतवर्ष

रामनाथपुरम जिसे रामनाड या मुगावई के नाम से भी जाना जाता है यह देश के 543 और तमिलनाडु के 39 लोकसभा में एक है. तमिलनाडु के सबसे पुराने शहरों में से एक रामनाथपुरम जिले में ही विश्व प्रसिद्ध रामेश्वरम भी स्थित है. भारत के पूर्व राष्ट्रपति एपीजे. अब्दुल कलाम ने यहां हायर सेकेंडरी स्कूल तक की पढ़ाई की है. यहां हुए शुरुआती तीन चुनावों में कांग्रेस पार्टी ने जीत दर्ज की थी. कांग्रेस के वीवीआर.एन. आर. नागप्पा चेट्टियार यहां के पहले सांसद बने. इसके बाद रामनाथपुरम अखिल भारतीय अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम यानि एआईएडीएमके का गढ़ बना गया. एआईएडीएमके ने यहां सात बार जीत दर्ज की है. वर्तमान में यहां इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग के कनि के. नवास सांसद हैं.

कनि के. नवास ने बीजेपी के नैनार नागेंद्रन को हराया है. कानि के. नवास को जहां 44.29 प्रतिशत वोट मिले तो वहीं बीजपी के नैनार नागेंद्रन को 32.31 प्रतिशत वोट. तीसरे स्थान पर यहां रहे निर्दलीय वीडीएन आनंद को 13.36% वोट मिले थे. एनटीके के टी.भुवनेश्वरी को 4.37% जबकि पांचवे स्थान पर रहे एमएनएम के विजया भास्कर को 0.72 प्रतिशत वोट मिले.

2019 में 127122 वोटों से बीजेपी की हार

2019 के लोकसभा चुनाव में रामनाथपुरम में बीजेपी के नैनार नागेंद्रन को आईयूएमएल के कानि के. नवास ने 127122 वोटों से हराया था. कानि के. नवास को 469,943 वोट जबकि बीजेपी नैनार को 3,42,821 वोट मिले. तीसरे स्थान पर रहे निर्दलीय वीडीएन आनंद को 1,41,806 वोट मिले. एनटीके के टी.भुवनेश्वरी को 46,385 और पांचवे स्थान पर रहे एमएनएम के विजया भास्कर को 14,925 वोट मिले .

ये भी पढ़ें

इससे पहले 2014 में एआईएडीएमके के ए अनवर राझा ने डीएमके के एस. मोहम्मद जलील को 1,19,324 वोटों से हराया था. तीसरे स्थान पर यहां बीजेपी के डी. कुप्पू रामू रहे थे. 2014 में काग्रेस के सु. थिरुनावुक्करासर चौथे स्थान पर रहे थे उन्हें 62,160 जबकि पांचवे स्थान पर रहे एसडीपीआई के एमआई नूर जियावुद्दीन को 12,541 वोट मिले थे.

रामनाथपुरम का चुनावी इतिहास

1952 में रामनाथपुरम में हुए पहले चुनाव में कांग्रेस के वीवीआर.एन. आर. नागप्पा चेट्टियार ने जीत दर्ज की थी. इसके बाद 1957 में कांग्रेस के पी. सुब्बैया अम्बलम, 1962 में कांग्रेस के एन. अरुणाचलम ने जीत दर्ज की. 1967 में यहां निर्दलीय एसएम मुहम्मद शेरिफ, 1971 में ऑल इंडिया फॉरवर्ड ब्लॉक के पीके मुकियाह थेवर सांसद बने.1977 में इमरजेंसी के बाद हुए चुनाव में एआईएडीएमके पी.अन्बालागन ने जीत हासिल की. 1980 में डीएमके के एमएसके सत्येन्द्रन. इसके बाद 1984, 1989 और 1991 में कांग्रेस के वी. राजेश्वरन सांसद चुने गए. 1996 में तमिल मनीला कांग्रेस के एसपी उदयप्पन, फिर 1998 और 1999 में एआईएडीएमके ने जीत हासिल की. 2004 और 2009 में डीएमके यहां जीत दर्ज करने में कामयाब हुई.

रामनाथपुरम का वोट गणित

2011 की जनगणना के अनुसार, रामनाथपुरम की आबादी 61,440 है. यहां की औसत साक्षरता दर 83.42 फीसदी है. रामनाथपुरम सीट पर 15,59,740 मतदाता हैं. इनमें पुरुष मतदाता की संख्या-7,82,092 जबकि महिला मतदाताओं की सख्या- 7,77,566 है.यहां थर्ड जेंडर निर्वाचक-82 हैं. रामनाथपुरम लोकसभा सीट के अन्तर्गत 6 विधानसभा- मुदुकुलातूर, अरंथंगी, तिरुवडनई, परमकुडी (सुरक्षित), रामनाथपुर और तिरुचुली सीटें आती हैं.

2019 में इस लोकसभा में कुल मतदान प्रतिशत 68.35% था. आईयूएमएल ने यहां मौजूदा सांसद कानि के. नवास को मैदान में उतारा है. जबकि अन्नाद्रमुक से निष्कासित बागी पूर्व मुख्यमंत्री ओ पन्नीरसेल्वम निर्दलीय मैदान में है. इस लोकसभा क्षेत्र से पांच पन्नीरसेल्वम नाम के उम्मीदवार मैदान में हैं एक पन्नीरसेल्वम को बीजेपी का भी समर्थन है. एआईएडीएमके ने पी. जयपेरुमल को टिकट दिया है.

रामनाथस्वामी मंदिर प्रमुख पर्यटन स्थल

रामनाथपुरम में रामनाथस्वामी मंदिर यहां के प्रमुख पर्यटन स्थल हैं.पौराणिक राम का पुल है, जिसे राम सेतु कहा जाता है इसी क्षेत्र में स्थित है.इसके साथ ही डॉक्टर एपीजे अब्दुल कलाम मेमोरियल, देवीपट्टीनम, पमबन ब्रिज, यहां के प्रमुख पर्यटन स्थल हैं



RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

Most Popular