fbpx
Sunday, July 14, 2024
spot_img

Virat Kohli vs KKR: जहां सब फंसे, वहां विराट कोहली डटे, संघर्ष के बीच भी कोशिशों से टीम को संभाला | RCB vs KKR: Virat Kohli hits 83 not out to take Bengaluru to 182 runs in slow Chinnaswamy Pitch


Virat Kohli vs KKR: जहां सब फंसे, वहां विराट कोहली डटे, संघर्ष के बीच भी कोशिशों से टीम को संभाला

विराट कोहली ने इस सीजन में अपना लगातार दूसरा अर्धशतक लगाया.Image Credit source: PTI

इस पारी में कुछ कमाल भी था, कुछ संघर्ष भी था और कुछ कोशिशें भी थीं. कमाल वही जाना-पहचाना, संघर्ष भी वही देखा हुआ लेकिन कोशिशें कुछ अलग, जिसकी जरूरत लंबे वक्त से महसूस की जाती रही है. कोलकाता नाइट राइडर्स के खिलाफ आईपीएल 2024 के तीसरे मैच में विराट कोहली के ये तीनों रूप देखने को मिले, जिसमें रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के स्टार बल्लेबाज ने 59 गेंदों में नाबाद 83 रन बनाए, जिसके दम पर बेंगलुरु ने 20 ओवरों में 182 रन का स्कोर खड़ा किया.

बल्लेबाजों के लिए स्वर्ग और गेंदबाजों की कब्रगाह मानी जाने वाली एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में इस सीजन के लगातार दूसरे मैच में पिच बिल्कुल अपने चिर-परिचित बर्ताव से एकदम अलग नजर आई. हमेशा से सपाट रहने वाली ये पिच पिछले मैच की तरह धीमी नजर आई और इसका असर बेंगलुरु की पूरी पारी के दौरान नजर आया. RCB के ज्यादातर बल्लेबाज इससे संघर्ष करते हुए अपना विकेट गंवाते रहे लेकिन कोहली इसके बावजूद पारी को आखिर तक खींचते हुए टीम को बेहतर स्कोर तक ले गए.

कमाल शुरुआत, बीच में दमदार कोशिशें

पिछले मैच की तरह विराट कोहली ने एक बार फिर पावरप्ले में तेज शुरुआत की. उन्होंने तीसरे ओवर में ही मिचेल स्टार्क की तेज गेंद को फ्लिक करते हुए डीप मिडविकेट पर छक्के के लिए भेज दिया. इसके बाद स्पिनर्स का अटैक शुरू हुआ तो कोहली को परेशानी का सामना करना पड़ा लेकिन टी20 वर्ल्ड कप के लिए टीम में जगह बनाने की उम्मीद के साथ स्पिनर्स के खिलाफ आक्रामक रुख अपनाने की कोशिश कोहली ने यहां दिखाई, वो भी सुनील नरेन और वरुण चक्रवर्ती जैसे स्पिनर्स के खिलाफ कोहली ने दोनों के खिलाफ स्लॉग स्वीप खेलते हुए 2 बेहतरीन छक्के जमाए.

सामने आया संघर्ष, फिर भी डटे रहे

उन्हें बीच-बीच में कैमरन ग्रीन और ग्लेन मैक्सवेल का थोड़ा साथ मिला लेकिन दोनों में से कोई भी अपनी पारियों को लंबा नहीं खींच पाया. आंद्रे रसेल समेत केकेआर के गेंदबाजों ने धीमी गेंदों का अच्छा इस्तेमाल किया और रनों की रफ्तार पर लगातार लगाम लगाई. यहां पर कोहली की वो कमी सामने आई, जो इस फॉर्मेट में उनके खिलाफ जाती रही है. कोहली ऐसी गेंदों से निपटने के लिए रिवर्स स्वीप, स्विच हिट और रैंप या स्कूप जैसे गैर-परंपरागत शॉट नहीं खेलते और यहां उनकी कमी खलती दिखी.

फिर भी जिस पिच पर RCB के ज्यादातर बल्लेबाज परेशान दिखे और न तो रन बना सके न रफ्तार बढ़ा सके, वहां पर कोहली के पास कोहली अपनी ओर से जो कुछ कर सकते थे, वो कर सके. कोहली ने इस सीजन में लगातार दूसरा अर्धशतक जमाया. पिछले मैच में उन्होंने 77 रन बनाए थे. आखिर में दिनेश कार्तिक ने सिर्फ 8 गेंदों में तेजी से 20 रन बनाकर कोहली से बोझ कुछ कम किया और टीम को 182 रनों तक पहुंचाया.



RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

Most Popular