fbpx
Wednesday, July 17, 2024
spot_img

मौत का सामान बेचता था गैंग, लीडर थी 60 साल की महिला… गिरोह के साथ ऐसे हुई गिरफ्तार | rajasthan police caught drug dealer gang with 60 year old lady leader stwvs


मौत का सामान बेचता था गैंग, लीडर थी 60 साल की महिला... गिरोह के साथ ऐसे हुई गिरफ्तार

उदयपुर पुलिस ने नशीले पदार्थों की तस्करी करने वाले गैंग को किया गिरफ्तार

राजस्थान से लगातार रोडवेज और प्राइवेट बसों से नशीले पदार्थो की तस्करी की खबरें सामने आ रही थीं. पुलिस के मुताबिक तस्करी करने वाले आरोपियों को दबोचने की कोशिश काफी समय से की जा रही थी. इसी कड़ी में उदयपुर पुलिस ने नशे की तस्करी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश करते हुए पांच शातिर महिला समेत सात लोगों को गिरफ्तार कर लिया है.चौंकाने वाली बात यह है कि इस गैंग की लीडर एक 60 साल की महिला है.

प्रताप नगर के थाना अधिकारी के मुताबिक, इस गिरोह ने काफी समय से पुलिस की नाक में दम किया हुआ था. पुलिस इन आरोपियों को पकड़ने के लिए कई दिनों से कोशिश में जुटी हुई थी. साथ ही चुनाव के चलते सभी संदिग्ध गतिविधियों पर नजर रखी जा रही थी. इस दौरान पुलिस को गुप्त जानकारी मिली की देबारी काया हाईवे पर कुछ लोग नशीली वस्तुओ को लेकर जा रहे हैं. पुलिस बिना वक्त गंवाए हाइवे पर पहुंच गई और 60 साल की गैंग की सरगना समेत इन आरोपियों को दबोच लिया. इस दौरान पुलिस ने आरोपियों के पास से 123 किलो डोडा चूरा बरामद किया है, जिसकी कीमत 40 लाख रुपए बताई जा रही है.

60 साल की महिला करती थी गैंग को लीड

पकड़े गए आरोपियों में 60 साल की बलजीत कौर है. इसके अलावा चार महिलाएं, एक 19 साल का राहुल बेनीवाल और दूसरा हरियाणा का छत्तीसगढ़ से सूखा सिंह सरदार है. पुलिस के मुताबिक, इस गैंग की लीडर एक यही 60 साल की बुजुर्ग महिला थी, जो कि गैंग को लीड किया करती थी. ये आरोपी मंगलवाड चौराहे के पास कीर चौकी से 123 किलो डोडा चूरा खरीदकर और 14 बैगों में भरकर बस से देबारी काया ओवर ब्रिज पर पंजाब जाने के लिए बस का इंतजार कर रहे थे. इस दौरान पुलिस ने इन्हें दबोच लिया.

ये भी पढ़ें

क्या बताया गैंग की लीडर ने ?

पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि वे पिछले 5 महीने से सात बार उदयपुर के आसपास चित्तौड़ और मंगलवाड में आ चुके हैं और यहां से करीब 600 किलो डोडा चूरा खरीद कर ले जा चुके है. इसके बाद यह नशीली पदार्थ पंजाब और हरियाणा में उसे बेचा गया था.वहीं गैंग की सरगना बलजीत कौर पिछले कई सालों से पंजाब में नशीली पदार्थ बेच रही थी. बलजीत कौर पहले एमपी से नशीली पदार्थ खरीद कर लाती थी लेकिन वहां पर पुलिस की नाकेबंदी और गतिविधियां बढ़ने से वह मेवाड़ के रास्ते आने लगी और यहां से डोडा चुरा खरीद कर ले जाती थी. इस दौरान जब वह गैंग के साथ यहां से पंजाब और हरियाणा के लिए डोडा चूरा लेकर जा रही थी, पुलिस की टीम ने इन्हें दबोच लिया. फिलहाल पुलिस आगे की जांच में जुटी हुई है और सभी आरोपियों से पूछताछ कर रही है.



RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

Most Popular