fbpx
Monday, July 15, 2024
spot_img

बेटी के जन्म पर पिता ने किया ऐसा स्वागत देखता रह गया शहर | Style of new born girl welcome by family goes viral on social media in khandwa mp stwvs


बेटी के जन्म पर पिता ने किया ऐसा स्वागत देखता रह गया शहर

एमपी में नवजात बेटी का जोरदार स्वागत

मध्य प्रदेश के खण्डवा जिले में बेटी के आने की खुशी में परिवार ने ढोल-नगाड़े बजाकर स्वागत किया. यही नहीं, उसे अस्पताल से लाने के लिए एंबुलेंस को दुल्हन की तरह सजाया था. बेटी की खुशी में इजहार का ये तरीका शहर में चर्चा का विषय बन गया. लोगों ने जमकर उनकी तारीफ की. एंबुलेंस को जिसने भी ऐसा सजा हुआ देखा, देखता रह गया.

खंडवा के रांझनी गांव में सलोनी भार्गव और उनका पति रहते हैं. सौरभ भार्गव पेशे से एक ड्राइवर हैं, जो कि खंडवा से पुणे तक जाने वाली बस चलाते हैं, वहीं सलोनी भार्गव हाउसवाइफ हैं. दोनों की शादी को 6 साल हो गए हैं. लेकिन इस दौरान इन्हें कोई बच्चा नहीं हुआ था. हाल ही में सलोनी भार्गव प्रेग्नेंट हुई थी और कुछ महीनों बाद सलोनी को प्रसव का दर्द उठने लगा. दर्द बढ़ता देख सलोनी को खण्डवा जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

सजवा दीं एंबुलेंस

अस्पताल में सलोनी ने एक बेटी को जन्म दिया. बेटी की जन्म बात सुन परिवार में खुशी की लहर आ गई. इस दौरान सौरभ खुशी से झूम उठा और उसने बेटी का स्वागत जोरदार तरीके से करने की प्लानिंग बनाई. सौरभ ने पत्नी के डिसचार्ज होने के बाद, जिस एंबुलेंस से वह घर जाने वाली थी. उसे दुल्हन की तरह फूल और मालाओं से सजवा दिया और ढोल नगाड़ौं के साथ घर मां और नवजात बच्ची को लेकर घर आए थे.

ये भी पढ़ें

पत्नी और बेटी के घर जाते समय एंबुलेंस की मानों बारात निकल रही थी. रास्ते में जिस किसी ने भी इन एंबुलेंस को देखा वे सब हैरान हो रहे थे.एंबुलेंस को फूलों से सजाकर उसमें नवजात बेटी और उसकी मां को बैठाकर ,खंडवा जिला अस्पताल से उसके गांव राँझनी तक लाया गया था.और तो और बेटी के गांव में पहुंचने पर आतिशबाजी भी की गई. वहीं घर के आंगन में फूलों की कालीन को बिछाकर नवजात बेटी का गृह प्रवेश कराया गया था. इस दौरान नवजात बेटी का स्वागत दादा दादी, नाना नानी और परिजनों ने मिलकर किया.

क्या बताया पिता ने ?

वहीं सौरभ भार्गव ने बताया कि कई सालों बाद उनके घर पर नन्हे बच्चे का आगमन हुआ है. सौरभ बेटी के जन्म से बेहद खुश हैं. सौरभ ने आगे कहा ‘हमे बड़ी खुशी है और हमारे पूरे परिवार मे खुशियों का माहोल है’. आज अगर बेटी नही होगी, तो दुनिया को एक मां,एक बहन,एक पत्नी, यानी हर प्रकार का रिश्ता कैसे मिलेगा ? और ये सृष्टि आगे कैसे चलेगी ? वहीं परिवार वालों का कहना है कि उन्हें बहुत खुशी है कि उनके घर बेटी हुई है. कन्या लक्ष्मी का रूप होती हैं. उनके घर आज लक्ष्मी का आगमन हुआ है.



RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

Most Popular