fbpx
Thursday, July 18, 2024
spot_img

अलर्ट: नंबर बंद करने की धमकी वाली कॉल पर न करें गौर, फ्रॉड रोकने में हेल्पलाइन करेगी मदद | Do not pay heed to calls threatening to close your number helpline will help in preventing fraud


अलर्ट: नंबर बंद करने की धमकी वाली कॉल पर न करें गौर, फ्रॉड रोकने में हेल्पलाइन करेगी मदद

DOT ने साइबर फ्रॉड के मामलों की शिकायत करने के लिए संचार साथी पोर्टल लॉन्च किया है.

कई लोगों के पास एक फोन कॉल आती है और उसमें धमकी भरे अंदाज में कहा जाता है कि, अगर आपने 24 घंटे में KYC डिटेल अपडेट नहीं की तो आपका मोबाइल नंबर बंद कर दिया जाएगा. साथ ही कई बार दूसरे तरीके की फेक कॉल के जरिए लोगों को ठग लिया जाता है. ऐसे में उनके सामने दिक्कत रहती है कि इसकी शिकायत कहां करें. इन सभी के लिए DOT (दूरसंचार विभाग) ने एडवाइजरी जारी की है. जिसमें मोबाइल यूजर्स के लिए कई अलर्ट जारी किए गए हैं.

अगर आप भी मोबाइल यूजर हैं तो आपको DOT की एडवाइजरी को ध्यान से पढ़ना चाहिए. यहां हम आपको इसी के बारे में विस्तार से बता रहे हैं. जिसमें अगर आपके पास मोबाइल नंबर KYC के लिए कॉल आए तो क्या करें और अगर आप किसी फ्रॉड का शिकार हो जाए तो इसकी शिकायत कहां करें? अगर आप सावधान रहना चाहते हैं तो आपको इस खबर को पूरा पढ़ना चाहिए.

KYC के लिए इस देश के कोड से आता है कॉल

ये भी पढ़ें

अगर आपके पास मोबाइल नंबर KYC के लिए कॉल आई हो और आपने गौर किया हो तो उसमें कॉल आने वाले नंबर की शुरुआत +92 से शुरू होता है. आपको बता दें ये कंट्री कोड पाकिस्तान का है. जहां से बैठकर साइबर ठग आपको मोबाइल नंबर KYC के लिए कॉल करते हैं और आप जैसे ही उनके झांसे में आते हैं और उनके बताए हुए तरीके से ऑनलाइन KYC करते हैं वैसे ही उनके पास आपके अकाउंट की डिटेल पहुंच जाती है और वो पलभर में आपका अकाउंट खाली कर देते हैं.

वॉट्सऐप से करते हैं कॉल

वॉट्सऐप की मदद से आप इंटरनेशनल कॉल कर सकते हैं. इसी वजह से साइबर ठग विदेश में बैठकर वॉट्सऐप के जरिए फ्रॉड करने के लिए कॉल करते हैं. अगर आपके पास कभी भी +91 को छोड़कर किसी ओर कंट्री के कोड से कॉल आए तो आपको ऐसी कॉल उठानी ही नहीं चाहिए. आपको बता दें हाल फिलहाल में +92 से कॉल आ रही है, जिसमें साइबर ठग मोबाइल नंबर KYC के लिए कॉल करते हैं.

फ्रॉड होने पर कहां करें शिकायत

DOT ने साइबर फ्रॉड के मामलों की शिकायत करने के लिए संचार साथी पोर्टल www.sancharsathi.gov.in लॉन्च किया है. जहां कोई भी धोखाधड़ी का शिकार यूजर लॉगिन करके शिकायत कर सकता है. वहीं DOT ने +92 कोड से आने वाली कॉल पर कोई जानकारी शेयर न करने की सलाह दी है.

इसके अलावा दूरसंचार विभाग ने साइबर अपराध और वित्तिय धोखाधड़ी को रोकने के लिए ‘नो योर मोबाइल कनेक्शंस’ सुविधा शुरू की है. जिसमें www.sancharsathi.gov.in पोर्टल पर जाकर आप अपने नाम पर जारी हुए मोबाइल नंबर की जानकारी कर सकते हैं और अगर कोई नंबर आपकी जानकारी के बिना जारी हुआ है तो उसे बंद भी करा सकते हैं. आपको बता दें DOT पहले ही मोबाइल यूजर्स के लिए साइबर हेल्पलाइन नंबर 1930 और www.cybercrime.gov.in शिकायत दर्ज करने के लिए जारी कर चुकी है.



RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

Most Popular