fbpx
Wednesday, July 17, 2024
spot_img

अरविंद केजरीवाल सीएम पद नहीं छोड़ेंगे या देंगे इस्तीफा? आम आदमी पार्टी का आया बड़ा बयान | delhi cm arvind kejriwals custody extended till april 1 saurabh bhardwaj held a press conference


अरविंद केजरीवाल सीएम पद नहीं छोड़ेंगे या देंगे इस्तीफा? आम आदमी पार्टी का आया बड़ा बयान

प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए दिल्ली सरकार के मंत्री सौरभ भारद्वाज

कथित दिल्ली शराब घोटाला मामले में ईडी ने आज दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल को गुरुवार को राउज एवेन्यू कोर्ट में पेश किया गया. सात दिनों की रिमांड के बाद आज फिर ईडी ने रिमांड मांगी. कोर्ट ने सीएम केजरीवाल को 1 अप्रैल तक ईडी की रिमांड पर भेज दिया है. सुनवाई के बाद दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सौरभ भारद्वाज ने भी आज गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की है. इस दौरान उन्होंने बताया कि क्या सीएम केजरीवाल पत्नी को गद्दी सौंपेंगे?

सौरभ भारद्वाज ने कहा कि दिल्ली और AAP चाहती है कि 2025 तक अरविंद केजरीवाल सीएम बने रहें. और उसके बाद भी वे ही सीएम बनेंगे. उन्होंने कहा कि अरविंद केजरीवाल ने ED रिमांड का विरोध करने के बजाए उसका स्वागत किया. केजरीवाल कोर्ट में अपनी बात रखना चाह रहे थे जिसका ED ने विरोध किया लेकिन केजरीवाल के वकील ने धाराओं का हवाला दिया और उन्होंने अपनी बात रखी. कोर्ट में सीएम केजरीवाल ने कहा कि ये केस दो साल से चल रहा है, इसमें ना तो किसी कोर्ट ने दोषी करार दिया, ना आरोप तय हैं ना आरोप लगे हैं.

162 विटनेस को किया एग्जामिन

कोर्ट में सीएम ने कहा कि ईडी ने लगभग 162 विटनेस को एग्जामिन किया है. इन सारे गवाहों और कागजों को मिलाकर क्यों अरेस्ट किया है. मेरे खिलाफ चार स्टेटमेंट डाले गए हैं जिसमें मेरे नाम का जिक्र है. पहला स्टेटमेंट, सिसोदिया के सचिव सी अरविंद के बयान पर आधारित है. सी अरविंद को मनीष सिसोदिया ने मेरे घर पर कुछ डॉक्यूमेंट दिए. मेरे घर पर ढेरों अधिकारी आते हैं मुझे नहीं पता कौन क्या दे रहा है. क्या ये आधार काफी है?

दूसरा बयान जगन रेड्डी की पार्टी के सांसद MSR का है, जिन्होंने चिट्ठी लिखकर मिलने की अनुमति मांगी थी और वे मिलने आए. वे दिल्ली में चैरिटेबल ट्रस्ट खोलना चाहते थे. 16 सितंबर 2022 को उनके यहां रेड हुई और पांच महीने बाद उनके बेटे को गिरफ्तार किया जाता है. वे पुराने बयान पर कायम रहते हैं, लेकिन 16 जुलाई 2023 को वे बयान बदल देते हैं, जिसके बाद 18 जुलाई को उनका बेटा छूट जाता है. कोई भी बयान अरविंद केजरीवाल के खिलाफ नहीं था इसलिए बार-बार नए बयान लिए गए.अरविंद केजरीवाल ने कहा कि ED सिर्फ और सिर्फ मुझे फंसाना चाहती है. ईडी ने जो 25 हजार पेज फाइल किए हैं, उनमें सिर्फ उन बयानों को लगाया गया है जो अरविंद केजरीवाल के खिलाफ हैं, जो बयान खिलाफ नहीं हैं, उन्हें हटा लिया गया है.

रेड पूछताछ में नहीं मिला कुछ

कोर्ट में अरविंद केजरीवाल ने तीसरे बयान में कहा कि MSR के बेटे राघव रेड्डी कुल सात में से छह बयान में मेरे खिलाफ नहीं बोलता है. ऐसे में सिर्फ सातवें स्टेटमेंट को सही कैसे मान सकते हैं. शरद रेड्डी के मामले में सीएम ने कहा कि रेड और पूछताछ में कुछ नहीं मिला. गिरफ्तारी के बाद 9 स्टेटमेंट में भी उन्होंने मेरे खिलाफ कुछ नहीं बोला. छह महीने तक वे जेल में रहते हैं और 25 अप्रैल को वो केवल यह बयान देते हैं कि अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि विजय नायर के टच में रहो. अरविंद केजरीवाल ने कोर्ट में कहा कि क्या ये चार बयान एक सीटिंग सीएम को गिरफ्तार करने के लिए काफी हैं.

क्या है ईडी का मकसद?

सीएम केजरीवाल ने कोर्ट में कहा कि ऐसा कहा जा रहा है सौ करोड़ एक पॉलिसी बनाने के लिए साउथ लॉबी ने दिए. उन्होंने कहा कि ED का पहला मकसद है AAP को कुचलना और एक्सटोर्शन रैकेट चलाना है. सीएम ने अदालत से पूछा कि जब इसी मामले में 55 करोड़ की मनी लॉन्ड्रिंग के सबूत हम कोर्ट में रख रहे हैं, तो क्या इसकी मॉनिटरिंग होगी कि ED इसकी जांच करें.

सौरभ भारद्वाज ने कहा कि पूरा देश और दुनिया की अलग अलग सरकारें आज राउज एवेन्यू कोर्ट, हाई कोर्ट, सुप्रीम कोर्ट की तरफ देख रहे हैं. वहीं इस बात पर चर्चा है कि सीएम की पत्नी से मेरी बात हुई. वे बता रही थीं कि शुगर लेवल 46 तक गई जो स्वास्थ्य के लिए जानलेवा है.

याचिका कर दी गई खारिज

सौरभ भारद्वाज ने बताया हाई कोर्ट ने कहा कि जेल में रहकर कोई मुख्यमंत्री अपने पद पर नहीं रह सकता इसको लेकर कोई कानून नहीं है और ना ही ऐसा कोई धारा है. जिसने PIL दाखिल की ना वो इसका कोई जवाब दे पाया और ना ही बीजेपी का कोई प्रवक्ता इसका जवाब दे पा रहा है. ऐसे में याचिका खारिज कर दी गई.



RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

Most Popular