fbpx
Sunday, July 14, 2024
spot_img

दिल्ली, चेन्नई, कोलकाता नहीं देश के इन शहरों में बढ़ रही है घरों की मांग | Anrock Report property demand surge by 14 percent in 7 major cities


देश की तीन बड़े महानगरों में घर खरीदने के बजाय लोग दूसरे शहर का रुख कर रus है. रियल एस्टेट सेक्टर कंसल्टेट एलरॉक की एक रिपोर्ट के मुताबिक देश में लोग दिल्ली, चेन्नई, कोलकाता की बजाय पुणे, बेंगलुरु और हैदराबाद में घर खरीदना ज्यादा पसंद कर रहे है. इस रिपोर्ट के मुताबिक इस साल जनवरी से अबतक देश के सात महानगरों में आवासीय बिक्री 14 फीसदी बढ़ी है.

यहां खास बात यह है कि एक और जहां देश के महानगरों में शुमार दिल्ली, कोलकाता और चेन्नई जैसे शहरों में घरों की खरीद में गिरावट दर्ज की गई है. वहीं मुंबई महानगर क्षेत्र (एमएमआर), पुणे, बेंगलुरु और हैदराबाद में आवासीय संपत्तियों की बिक्री बढ़ी है. रियल एस्टेट सलाहकार एनारॉक ने देश के शीर्ष सात आवासीय बाजारों में बिक्री से जुड़े आंकड़े बुधवार को जारी किए.

क्या कहती है रिपोर्ट

ये भी पढ़ें

एनरॉक की ओर से जारी किए गए इन आंकड़ों के मुताबिक, देश के टॉप 7 शहरों में इस साल जनवरी-मार्च तिमाही में आवासीय बिक्री 14 प्रतिशत बढ़कर 1,30,170 इकाई हो गई, जो एक साल पहले समान अवधि में 1,13,775 इकाई थी. एनरॉक के चेयरमैन अनुज पुरी के मुताबबिक 1.5 करोड़ रुपये और उससे अधिक कीमत वाले महंगे मकानों की मांग में तेजी के बीच इस तिमाही में पिछले दशक में अभी तक की सबसे अधिक बिक्री दर्ज की गई है. जनवरी-मार्च के दौरान एमएमआर में आवासीय बिक्री 24 प्रतिशत बढ़कर 42,920 इकाई हो गई, जो एक साल पहले इसी अवधि में 34,690 इकाई थी. पुणे में आवासीय बिक्री 19,920 इकाइयों से 15 प्रतिशत बढ़कर 22,990 इकाई हो गई.

हैदराबाद में 38 फीसदी की ग्रोथ

एक तरफ जहां दिल्ली, चेन्नई कोलकाता जैसे शहरों में डिमांड कम हुई है. वहीं हैदराबाद में आवासीय बिक्री 38 प्रतिशत बढ़कर 14,280 इकाइयों से 19,660 इकाई हो गई. बेंगलुरु में 15,660 इकाइयों से 14 प्रतिशत बढ़कर 17,790 इकाई रही. वहीं दिल्ली-एनसीआर में आवासीय बिक्री में नौ प्रतिशत की गिरावट आई और यह 17,160 इकाइयों से घटकर 15,650 इकाई रह गई. कोलकाता में भी आवासीय बिक्री 6,185 इकाइयों से नौ प्रतिशत गिरकर 5,650 इकाई और चेन्नई में बिक्री छह प्रतिशत घटकर 5,510 इकाई रह गई, जो पिछले वर्ष की इसी अवधि में 5,880 इकाई थी. शीर्ष सात शहरों में औसत आवासीय संपत्ति की कीमतों में 2024 की पहली तिमाही में सालाना आधार पर 10 से 32 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

क्या है कारण

इस रिपोर्ट पर सिग्नेचर ग्लोबल के चेयरमैन प्रदीप अग्रवाल ने कहा कि मजबूत मांग से बिक्री बढ़ी है. गुरुग्राम स्थित क्रिसुमी कॉर्पोरेशन के प्रबंध निदेशक मोहित जैन ने कहा कि आवासीय मांग, खासकर प्रीमियम और अल्ट्रा-लक्जरी मकानों के लिए अधिक है.



RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

Most Popular